बेंगलुरु : 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले कर्नाटक उपचुनावों में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों में से चार पर कांग्रेस-जेडी (एस) गठबंधन ने जीत दर्ज कर ली है जबकि बीजेपी को सिर्फ शिमोगा लोकसभा सीट पर कामयाबी मिली है। कांग्रेस जामखंडी और बेल्लारी सीटें जीत चुकी है। जेडी (एस) को रामनगर और मांड्या में जीत मिली है। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने इसे जनता का दिवाली गिफ्ट बताया। साथ ही यह भी कहा कि जनता ने बीजेपी को नकार दिया है।
सिद्धारमैया ने कहा- यह जीत कांग्रेस का पुनरुत्थान
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा, बेल्लारी में गठबंधन की जीत अहम है। कांग्रेस मुक्त भारत जो लोग बोलते थे उन्हें जवाब मिल गया है। लोगों ने बीजेपी के नकार दिया है और यह जीत कांग्रेस-जेडीएस को दिवाली का तोहफा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि कांग्रेस अगले साल लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 20 सीट से अधिक सीटें जीतेगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह जीत कांग्रेस के पुनरुत्थान की तरह है।
जनता का फैसला बीजेपी को जवाब
कांग्रेस नेता डी शिवकुमार ने कर्नाटक की जनता का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि जनता का यह फैसला बीजेपी को जवाब है जो उपचुनाव से पहले अपनी जीत का दावा ठोक रही थी। खासकर बेल्लारी सीट, जो बीजेपी नेता श्रीरामुलू का गढ़ जानी जाती है। यहां से उनकी बहन शांता उम्मीदवार थीं।
शिवकुमार ने कहा, हम सभी मतदाताओं के आभारी हैं जिन्होंने बड़ी संख्या में हमें वोट किया। कर्नाटक के लोगों ने बीजेपी को स्पष्ट संदेश दिया है। उन्होंने कहा कि बेल्लारी में जीत काफी अहम है। उन्होंने बीजेपी नेता श्रीरामुलु पर तंज कसते हुए कहा, शांतिपूर्ण मतदान के लिए बड़े भाई का धन्यवाद।
दरअसल श्रीरामुलु पृथक कर्नाटक की मांग कर रहे थे। बीते दिनों उन पर भडक़ाऊ भाषण देने का आरोप भी लगा था। हालांकि बाद में पुलिस ने क्लीन चिट दे दी थी। डीके शिवकुमार ने कहा कि बेल्लारी के लोगों को जाति, धर्म में नहीं बंटना चाहिए। उन्होंने कहा कि कर्नाटक की जनता ने एक बार फिर बीजेपी को नकार दिया है। इसी के साथ कांग्रेस की जिम्मेदारी भी बढ़ गई है। डीके शिवकुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का आभार जताया जिन्होंने उन पर भरोसा जताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here