ढाका : बांग्लादेश पुलिस ने मंगलवार को एक प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जमायतुल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के मुखिया को मार गिराया। जेएमबी पर विदेशियों, ब्लॉगर्स, मानव अधिकार कार्यकर्ताओं और 2016 में ढाका कैफे पर हुए हमले का आरोप लगाया जाता है। ढाका कैफे हमले में एक भारतीय लडक़ी सहित 20 व्यक्ति मारे गए थे। पुलिस ने बताया कि जेएमबी का प्रमुख खुर्शीद आलम उर्फ शमीम उत्तरी नगर शीबगंज में एक मुठभेड़ में मारा गया।
बोगरा सदर क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सनातन चक्रवर्ती ने कहा कि पुलिस ने गुप्त सूचना पर तीपुकुर क्षेत्र में छापेमारी की थी। सूचना थी कि वहां आतंकवादियों का एक समूह एकत्रित हुआ है। ढाका ट्रिब्यून ने चक्रवर्ती के हवाले से कहा कि पुलिस को देखकर आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद पुलिस को भी जवाबी कार्रवाई के लिए बाध्य होना पड़ा।
अधिकारी ने कहा कि अधिकतर आतंकवादी मौके से फरार हो गए लेकिन खुर्शीद गोलियों से छलनी मिला। चक्रवर्ती ने कहा कि उसे शाहिद जियाउर रहमान मेडिकल कालेज अस्पताल ले जाया गया लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। चक्रवर्ती ने कहा कि अस्पताल जाते समय खुर्शीद ने अपनी पहचान बताई। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ में घायल दो पुलिसकर्मियों का इलाज बोगरा पुलिस अस्पताल में चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here