नई दिल्ली : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को भारत को सौंपकर प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी राजनीतिक कुशलता साबित कर सकते हैं। स्वराज ने कहा, अगर इमरान खान (पाकिस्तानी प्रधानमंत्री) इतने उदार हैं तो दे दे मसूद अजहर को हमें।
स्वराज ने एक समारोह में आतंक पर पाकिस्तान की दोहराई गई बात का मजाक उड़ाते हुए कहा कि पुलवामा के बाद भी ऐसे दोहरे चरित्र के कई उदाहरण हैं। एक बिंदु पर पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि जैश प्रमुख मसूद अजहर पाकिस्तान में है और दूसरी तरफ, पाक सेना ने कहा कि जैश का पाकिस्तान में कोई अस्तित्व नहीं है।
विदेश मंत्री ने कहा कि जब तक पड़ोसी देश अपनी धरती पर आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता, भारत पाकिस्तान के साथ बातचीत नहीं कर सकता। उन्होंने भारत सरकार की नीति को बिल्कुल स्पष्ट बताते हुए कहा, हम आतंक पर बात नहीं करना चाहते हैं, हम उस पर कार्रवाई चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here