250 से ज्यादा आतंकी मारे गए : शाह

अहमदाबाद: पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना के हवाई हमले में कितने आतंकवादी मारे गए? सियासी गलियारे में अब इस सवाल पर चर्चा शुरू हो गई है. विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स में तरह-तरह के आंकड़ों के बाद अब भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया कि वायुसेना की एयर स्ट्राइक में 250 से ज्यादा आतंकी मारे गए.
रिपोर्ट के अनुसार गुजरात स्थित अहमदाबाद में एक कार्यक्रम में अमित शाह ने कहा- पुलवामा हमले के बाद हर कोई यह सोच रहा था इस बार सर्जिकल स्ट्राइक नहीं की जा सकेगी, अब क्या होगा? इसके बाद केंद्र में पीएम मोदी की सरकार ने हमले के 13वें दिन एयर स्ट्राइक की और 250 से ज्यादा आतंकी मारे गए.
वहीं अमित शाह के बयान पर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा कि जब वायुसेना के अधिकारियों ने किसी भी तरह के आंकड़े को बताने से इनकार किया था, तो फिर अमित शाह इस तरह का बयान क्यों दे रहे हैं, क्या ये एयरस्ट्राइक को राजनीति से जोडऩा नहीं हुआ.
उधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम का कहना है कि हम सरकार के एयर स्ट्राइक के दावे पर भरोसा करने को तैयार हैं, लेकिन पहले ये बताइए कि एयर स्ट्राइक में 300 से 350 आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि किसने की? पूर्व वित्तमंत्री ने सोमवार को ट्विटर के जरिये ये बातें कहीं. उन्होंने कहा- अगर सरकार चाहती है कि दुनिया पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में हुए वायुसेना के एयर स्ट्राइक पर भरोसा करे, तो सरकार को विपक्ष पर आरोप लगाने से बचना चाहिए.
उधर मोदी सरकार के ही केंद्रीय मंत्री एस एस अहलूवालिया का कहना है कि भारत के हमले का मकसद किसी शख्स को नुकसान पहुंचाना नहीं था. अहलूवालिया ने कहा कि भारत का उद्देश्य ये संदेश देना था कि वो दुश्मनों को घर में घुसकर मार सकता है.
सिलीगुड़ी में केंद्रीय मंत्री एस एस अहलूवालिया ने बयान दिया, हमले का मकसद यह संदेश भेजना था कि अगर जरूरत पड़ी, तो भारत इस काबिल है कि वह पाकिस्तान में दाखिल होकर अपने दुश्मनों के ठिकानों को तबाह कर सकता है. हम नहीं चाहते किसी भी तरह का जानमाल का नुकसान हो.

आज होगी कमांडर अभिनंदन की वाघा बॉर्डर के रास्ते वतन वापसी

नई दिल्ली : पाकिस्‍तानी सेना द्वारा बुधवार को हिरासत में लिए गए भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर पायलट अभिनंदन की आज वतन वापसी होगी. पूरा देश उनके स्वागत में पलकें बिछाए बैठा है. बताया जा रहा है कि विंग कमांडर को लेने एयरफोर्स अफसरों की एक टीम बॉर्डर पर जाएगी. वहीं अभिनंदन के माता-पिता भी इस मौके पर मौजूद रहेंगे. बेटे को लेने के लिए आज सवेरे चेन्नई से माता-पिता फ्लाइट से दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे. यहां लोगों ने ताली बजाकर उनका स्वागत किया. देर रात करीब डेढ़ बजे वे चेन्नई से दिल्ली पहुंचे और फिर दिल्ली से फ्लाइट चेंज करके अमृतसर निकल गए.

इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से आग्रह किया था कि वह जांबाज पायलट के स्वागत के लिए मौके पर पहुंचना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि वह फिलहाल अमृतसर में हैं और पाकिस्तान द्वारा हिरासत में लिए गये बहादुर पायलट के स्वागत के लिए वह वाघा सीमा पहुंच रहे हैं. उन्होंने कहा ,शूरवीर का स्वागत करना उनके लिए गौरव की बात होगी.

इसके पहले एयर वाइस मार्शल आर जी के कपूर ने पत्रकारों से गुरुवार को कहा था कि जिनेवा संधि के तहत पाकिस्तान विंग कमांडर अभिनंदन काे रिहा कर रहा है.
उन्होंने भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमले में एफ-16 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल नहीं करने के पाकिस्तान के दावे को पूरी तरह खारिज करते हुए कहा था कि जवाबी कार्रवाई में इस विमान को मार गिराया गया और इसके सबूत भी पेश किये.

इस बीच, विंग कमांडर की वापसी के चलते वाघा बॉर्डर पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. लोग भी काफी संख्या में इस बहादुर जवान का स्वागत करने के लिए पहुंच गए हैं. लोग हाथ में तिरंगा और ढोल नगाड़े लेकर उनका स्वागत करने को तैयार हैं. पूरा देश विंग कमांडर का उनकी बहादुरी के लिए ‘अभिनंदन’ कर रहा है.

बडगाम में वायुसेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त,पायलट और सह पायलट शहीद

श्रीनगर: भारतीय वायुसेना का एक मिग लड़ाकू विमान बुधवार को जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले में स्थित गारेंद गांव में दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस हादसे में दोनों पायलट की मौत हो गई .विमान यहां एक खेत में जाकर गिरा और इसमें आग लग गई. हादसे की वजह अब तक साफ नहीं हो पाई है. सूत्रों का कहना है कि कश्मीर में विमान पेट्रोलिंग पर था तभी प्लेन क्रैश हो गया. दुर्घटना का कारण तकनीकी खराबी बताई जा रही है. इस हादसे में पायलट और सह पायलट की मौत की खबर है. इस विमान ने श्रीनगर एयरबेस से उड़ान भरी थी.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विमान अचानक ही नीचे की ओर आने लगा और थोड़ी देर बाद विमान क्रैश हो गया और एक जोरदार आवाज आई. इसकी सूचना मिलते ही पुलिस और बचाव दल मौके पर पहुंच गया है. ध्यान रहे कि यह घटना ऐसे वक्त हुई है जब भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव का माहौल है. बता दें कि बीते 20 दिनों में भारत के 5 विमान क्रैश हुए हैं, हाल ही में बेंगलुरु में एयरो शो के दौरान दो सूर्य किरण विमान आपस में टकराकर क्रैश हो गए थे. वहीं राजस्थान के पोखरण में भी मिग-27 लड़ाकू विमान भी क्रैश हो गया था. हालांकि, इस हादसे में पायलट सुरक्षित बचने में कामयाब रहे थे.

भारत ने पाक एफ-16 विमान को मार गिराया

बीते कल भारतीय सेना की बड़ी कार्यवाही में बालाकोट में आतंकियों के ट्रेनिंग सेंटर को वायुसेना ने तबाह कर दिया था। इसके जवाब में पाकिस्तानी वायुसेना का एफ-16 विमान जम्मू कश्मीर के लाम वैली में भारतीय सीमा का उल्लंघन करते हुए 3 किमी भीतर घुस आया जिसे भारतीय सेना ने मार गिराया है। एएनआई की खबरों के अनुसार यह कार्यवाही सुबह की है। इस समय भारतीय सेना पाकिस्तान से लगे सीमा पर अलर्ट पर है।

पीओके में घुसे भारत के लड़ाकू विमानों से कोई नुकसान नहीं हुआ : पाक

इस्लामाबाद: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय एयरफोर्स ने पीओके में बड़ी कार्रवाई की है। भारत के लड़ाकू विमानों ने पीओके में घुसकर जैश के आतंकी ठिकानों को ध्वस्त कर दिया है।
आज तडक़े वायुसेना के मिराज विमानों ने पीओके के बालाकोट और चकोटी में जबर्दस्त बमबारी कर आतंकियों के ठिकाने तबाह किए। जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ भारतीय सेना की कार्रवाई से परेशान पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। इस बीच पाकिस्तानी सेना ने आरोप लगाया गया है कि भारतीय वायुसेना ने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान ने कहा जब पाकिस्तानी वायुसेना ने इसके खिलाफ कार्रवाई की तब भारतीय लड़ाकू विमान वापस लौट गए। उन्होंने साथ ही दावा किया कि वायुसेना के विमानों ने वापस लौटते हुए हड़बड़ी में खुली जमीन पर ही बम गिरा दिए, जिससे जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट कर भारत पर यह आरोप लगाया है।
सूत्रों के हवाले से कहा है कि भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने सीमा पार आतंकी कैंपों पर हमला किया और उसे पूरी तरह ध्वस्त कर दिया है।
गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान ने क्राइसिस मैनेजमेंट सेल का गठन किया है। कहा जा रहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ रहे तनाव के मद्देनजऱ पाकिस्तान ने ऐसा किया है। बता दें कि पुलवामा हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने सुरक्षा बलों को खुली छूट दे दी थी। इस हमले की जि़म्मेदारी पाकिस्तान आधारित आतंकवाद संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।

राहुल ने वायुसेना के पायलटों को किया सलाम

नयी दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पाकिस्तानी सीमा में आतंकी शिविरों पर भारतीय वायुसेना द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर वायुसेना के पायलटों को सलाम किया। गांधी ने ट्वीट कर कहा, मैं वायुसेना के पायलटों को सलाम करता हूं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, वायुसेना के जाबाँज रणबांकुरों को नमन। नभ: स्पृशं दीप्तम्। खबरों के मुताबिक, वायुसेना के मिराज लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तानी सीमा में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर बमबारी की। यह कार्रवाई पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में कई गयी है। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को जैश द्वारा किये गए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए थे।

भारत और रूस की वायुसेना आज से पोखरण में करेंगी संयुक्त युद्धाभ्यास

नईदिल्ली :  भारत और रूस की वायुसेना सोमवार से राजस्थान के जैसलमरे के पोखरण में युद्धाभ्यास करेंगी. 12 दिनों तक चलने वाले इस संयुक्त युद्धाभ्यास को अब तक का सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास माना जा रहा है. इसके लिए पोखरण फायरिंग रेंज और बाड़मेर के उत्तरलाई का भी इस्तेमाल किया जाएगा.
भारतीय वायुसेना के अधिकारी ने कहा कि एवीइंडर नाम का अभियान अपनी तरह का पहला युद्धाभ्यास होगा, क्योंकि रूस की वायुसेना अपना साजोसामान लेकर नहीं आएगी और वह यहां भारतीय उपकरणों का इस्तेमाल करेगी.
अधिकारी के अनुसार भारतीय वायुसेना द्वारा इस्तेमाल होने वाले ज्यादातर लड़ाकू विमान रूसी मूल के ही हैं और दोनों देशों की वायुसेनाएं आपसी तालमेल के महत्वपूर्ण स्तरों को छू चुकी हैं. रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, भारत में, रशियन फेडरेशन ऐयरोस्पेस फोर्स के पायलट भारतीय वायुसेना के विमानों में भारतीय पायलटों के साथ उड़ान भरेंगे जो दोनों वायुसेनाओं में समान हैं.

वायुसेना मना रही 86वां एयरफोर्स डे

वायुसेना मना रही 86वां एयरफोर्स डे

गाजियाबाद: भारतीय वायुसेना आज अपना 86वां एयरफोर्स डे मना रही है. इस मौके पर गाजियाबाद के हिंडन एयर फोर्स स्टेशन पर वायु सेना का कार्यक्रम हो रहा है. एयरफोर्स के जवानों ने आज दुनिया को जमीन से आसमान तक अपनी ताकत दिखाई. हिंडन एयर फोर्स स्टेशन में वायुसेना दिवस के समारोह में पूर्व क्रिकेटर व ग्रुप कैप्टन सचिन तेंदुलकर भी मौजूद रहे. समारोह में वायुसेना, थल सेना और जल सेना के प्रमुख बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए. परेड में 44 अधिकारी और 258 वायुसेना के जवानों ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया. कार्यक्रम की शुरुआत में आकाशगंगा टीम के पैरा जंपर्स 8000 फ़ीट की ऊंचाई से उतरे.

आकाशगंगा टीम का करतब देखकर वहं मौजूद लोग दंग रह गए और खड़े होकर तालियां बजाईं. आकाशगंगा टीम का नारा है- छतरी माता की जय. इसके बाद गगन शक्ति का परिचय कराया गया. गगन शक्ति इसी साल किए गए युद्ध अभ्यास में भी शामिल हुआ था. इस समारोह में कई देशों के राजनयिक भी शामिल हुए जिन्होंने भारतीय वायुसेना की ताकत को आज करीब से देखा. वहीं आज डकोटा मालवाहक विमान भी उड़ान भरेगा. साथ ही निशान टोली की कमान महिला फ्लाइंग लेफ्टिनेंट पी. राव संभालती नजर आईं. बता दें कि वायुसेना की स्थापना 8 अक्तूबर, 1932 को हुई थी.

वायुसेना का चेतक विमान दुर्घटनाग्रस्त

वायुसेना का चेतक विमान दुर्घटनाग्रस्त

चेन्नई : तमिलनाडु में ट्रनिंग के दौरान चेतक दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। हालांकि इस दुर्घटन में किसी भी प्रकार का कोई जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है और पायलट पूरी तरह चालक सुरक्षित है। हादसे में विमान का आगे और पीछे का हिस्सा क्षतिग्रसत हो गया है। मिली खबर में बताया गया है कि तमिलनाडु के राजाली में सोमवार की सुबह ट्रेनिंग के दौरान वायुसेना का चेतक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हादसे किसी के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है। हादसे में विमान का आगे और पीछे का हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रसत बताया जा रहा है।
चेतन विमान सीएच442 ट्रेनिंग के दौरान हादसे का शिकार हो गया। हादसे के बाद चालक विमान को कूद गया और अपनी जान बचा ली। चालक पूरी तरह से सुरक्षित बताया जा रहा है। हालांकि इस दुर्घटना में वायुसेना के विमान का अगला और पिछला हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। हादसे की सूचना पाकर वायुसेना के अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं और हादसे के कारणों का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है।